आपके घर में बीमारी रहती है क्या



         जिस
तरह हम स्वयं नहाते है अच्छे कपड़े पहनते है शरीर की साफ़ - सफाई रखते है तो जिस घर में हम रहते है उसे भी साफ़ सुथरा रखे तो कितना अच्छा है ना बीमारियां होंगी ना धूल गन्दगी रहेगी मन भी प्रसन्न रहता है एक साफ-सुथरे माहौल में रहना भला किसे अच्छा नहीं लगता? मगर जैसे-जैसे शहरों में कूड़ा-कचरा बढ़ता जा रहा है, अपने घर और आस-पास के इलाके को साफ-सुथरा और ठीक-ठाक रखना और भी मुश्किल होता जा रहा है।
         नगरपालिकाएँ, अपनी ड्यूटी निभाती है वे बाहर का कचरा उठाकर ले जाती है पर अपने घर के अंदर के कचरे , धूल गन्दगी तो हमे ही साफ़ करना है गन्दगी होने पर कूड़े-कचरे के ढेर चूहों, कॉकरोच और बीमारी फैलानेवाले दूसरे कीड़े-मकोड़ों की आबादी बढ़ाते हैं। क्या आप इसे रोकने के लिए कुछ कर सकते हैं? जी हाँ, अपने घर और आस-पास की जगह को साफ-सुथरा और ठीक-ठाक रखिए।

       हम सोचते जरुर आज ये साफ़ करना है ये नहीं सोचकर भूल जाते है सबसे अच्छा तरीका है की मोबाइल में अलार्म लगा ले दिन के हिसाब से आज हमे इस कमरे को साफ़ करना है कल दूसरा ऐसे सभी के लिए अलार्म लगा ले


ड्राइंगरूम -
हमारा ड्राइंग रूम 

चीज़ें सही जगह पर रखिए। फर्नीचर की हलकी झाड़-पोंछ कीजिए। ज़रूरत हो तो ज़मीन को झाड़ू-पोंछा लगाइए या वैक्यूम क्लीनर से साफ कीजिए

अगर आपने अपने घर में कांच लगवाया है तो उसे कांच पर कोलिन्स औऱ कपड़े से ग्लास साफ करे

दरवाज़ों की चौखटों को साफ कीजिए। कालीन, परदे और सोफा को साफ करने के लिए या तो वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल कीजिए या ऐसे ही अच्छी तरह साफ कीजिए

घर के हर कोने की सफाई करे क्योकि घर के कोने में सबसे ज्यादा गंदगी जमा होती है इसके लिए एक साफ़ कपड़ा लेकर सफाई कीजिए

घर की खिड़की दरवाजो को भी साफ़ कपड़े से साफ़ करे

घर में रखी मूर्तियाँ , पेंटिग , कांच के शो पीस को साफ़ कपड़े से उनकी धूल साफ़ करिए मूर्तियों में काफी बारीक शिल्पकारी होती है जिन्हें कपड़े से साफ़ करना मुश्किल होता है आप उन्हें जो छोटे पतले पेंटिग ब्रश होते है उनसे साफ़ कीजिए आसानी से साफ़ हो जायेगे



किचन -
मनमोहक किचन 
बर्तन धोने वाला स्पंज और किचन क्लॉथ और जिन कपड़ो से आप घर की और सभी कमरों की सफाई करते है उन्हें भी धोये इस्तेमाल के बाद इसे सूखने के लिए रख दें यह जितनी देर तक गीला रहेगा कीटाणु उतनी ही तेजी से फैलेंगे स्पंज को आप माइक्रोवेव में रखकर सैनेटाइज कर सकते है

किचन के कटिंग बोर्ड फल सब्जियों औऱ बाकी सामग्री के लिए एक औऱ नॉनवेज के लिए अलग बोर्ड रखें ताकि क्रॉस कंटैंमिनेशन हो नियमित रूप से एंटी बैक्टीरियल क्लीनर से क्लीन करे

साल में एक बार  सारे शैल्फ, अलमारियाँ और दराज़ खाली कीजिए और अच्छे से साफ कीजिए। गैर-ज़रूरी चीज़ें फेंक दीजिए। उपकरणों को हटाकर जगह को साफ कीजिए

स्टोव, पकाने की जगह रखे उपकरण और सिंक में लगे नल वगैरह धोइए। ज़मीन पर पोंछा लगाइए

बरतन और सिंक धोइए। खाना पकाने की जगह और टेबल साफ-सुथरी रखिए। ज़रूरत हो तो ज़मीन को झाड़ू या पोंछा लगाइए

फ्रिज खाली करके उसे अच्छी तरह साफ कीजिए सारे सामान को अच्छे से सगो पोछकर फिर से जमाइए

किचन काउंटर्स को रोजाना साबुन से धोने के बाद 1 टीस्पून क्लोरीन ब्लीच पाउडर डालकर साफ करे कैबिनेट में मौजूद कंटेनर्स को अच्छे से बंद करके रखे

नियमित रूप से बर्तन रखने वाली ट्रॉली को साफ हाइजेनिक रखे खाने के तुरंत बाद बर्तनों को धो पोंछकर रखे सिंक में पड़े ना रहने दे

डस्टबिन में हमेशा ब्लैक पॉलीथिन डालकर रखे हर हफ्ते डस्टबीन को साबुन के पानी से धोए

बाथरूम -
नीला बाथरूम 
दीवारें, बाल्टी और नल वगैरह धोइए। कमोड, केबिनेट और कोई भी सतह को कीटाणु-नाशक से साफ कीजिए। तौलिये बदलिए। ज़मीन को झाड़ू या पोंछा लगाइए

टॉयलेट साफ करते समय इसे अनदेखा ना करें साबुन के अलावा एंटी बैक्टीरियल क्लीनर का इस्तेमाल भी करे

बाथरूम में हमेशा पानी भरकर ना रखे नहाने के बाद बाल्टी को उल्टा करके रख दें और बाथटब को पोंछकर साफ कर दे यदि शावर कर्टन्स का इस्तेमाल करते हैं तो इसे हर 15 दिन में साफ करे

शैल्फ और दराज खाली करके साफ़ करे ले जिन चीजो की डेट हो चुकी है उन्हें फेंक दे

बेडरूम -
साफ़ सुंदर बेडरूम 

बिस्तर करीने से लगाइए और चीज़ें अपनी-अपनी जगह पर ठीक से रखिए

तकिये के कवर को 15 दिन में गर्म पानी में धोए हर दो साल में तकिये बदलते रहे
चादर तकिये के कवर , डेली यूज होने वाले तोवेल भी हर सप्ताह में धोए

अलमारी को हर एक हफ्ते में साफ करे नए सिरे से जमाए ज्यादा अच्छा है आप अलमारी में एक न्यूज पेपर बिछाकर रखे इससे कपड़े नीचे खराब नहीं होंगे और साफ़ रहेंगे जो सबसे कीमती कपड़े है उनके धूल से वे खराब हो सकते है इसलिए एक प्लास्टिक बैग में बंद करके रखे जो कपड़े सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते है उन्हें सामने रखे जो कम इस्तेमाल होते है उन्हें पीछे कपड़ो में नमी दूर करने और कीड़ों से बचाव के लिए नेफ्थालिन की गोली रखे

आंगन -
प्यारा आंगन 
गीले सूखे कचरे के लिए अलग अलग डस्टबिन रखे जैसे फलों ,सब्जि के छिलके के लिए अलग , प्लास्टिक पैकेट्स के लिए अलग रखे

अपने घर के बाहर भी साफ सफाई रखे घर के बाहर एक डस्टबिन रखे और उसमें बाहर के पत्ते  , पैकेट और कचरा उठाकर डाले
घर के कूलर में पानी ना जमने दे डेंगू के मच्छर जमे पानी में ही पनपते है
पानी में फिनायल घोल दे और मग की सहायता से को बाहर कर दे अच्छी तरह साफ़ करे

घर के आंगन में धूल गन्दगी अनेक बीमारियों को बुलावा देती है सप्ताह में एक बार साफ पानी में फिनायल डालकर आंगन की धुलाई करे

जहां गाड़िया खड़ी करते हैं वहां भी गन्दगी होती है हर हफ्ते साफ़ पानी से गाड़ी रखने की जगह की धुलाई करे घर और बाहर से बेकार पड़ी चीजो को हटा दे

पूरे घर की सफाई -
हमारा साफ़ सुथरा घर 

पूरे घर की सारी दीवारें धोइए। कालीन और सोफे को साफ कीजिए, साथ ही परदे को 

घर में अंदर या बाहर सीढियों की रेलिंग है उन्हें पहले गीले कपड़े से फिर सूखे कपड़े से साफ़ करे  

घर के दरवाजे खिडकियों पर जाली लगाकर रखे इससे मच्छर , धूल , गन्दगी नहीं आयेगी घर में रोज शाम को नियम बनाए की शाम 6 के बाद घर के दरवाजे बंद करके रखे इससे कीड़े मकौड़ो का प्रवेश नही होगा

कूड़े-कचरे को अच्छे से बाँधकर फेंकिए


पूरे घर के लैम्प, पंखे और ट्यूबलाइट या बल्ब वगैरह साफ कीजिए। दरवाज़े साफ कीजिए। खिड़कियाँ, उनके फ्रेम, और खिड़कियों पर लगी जालियाँ धोइए

घर के उपकरणो जैसे टीवी ,वोशिंग मशीन फ्रिज, कम्प्यूटर ,एसी की गीले और सूखे साफ कपड़े से सफाई करे जहां तक सम्भव हो टीवी , फ्रिज कम्यूटर को काम होने के बाद मोटे कपड़े से ढांककर रखे इससे धूल कम जमेगी

जिन चीज़ों को आप इस्तेमाल नहीं करते,  उन्हें किसी जरुरतमन्द को दे दे जैसे कपड़े , किताबे अन्य सामान 



मित्रों साफ़ सफाई रखना बहुत ही जरूरी है जब तक सफाई ना हो घर में रहना का मजा नहीं आता है  , साफ़ - सफाई सिर्फ एक काम या बोझ नहीं है बल्कि यह एक कला है जो घर के हर व्यक्ति में अलग -अलग है आप भी करिए घर के हर सदस्य के साथ करिए सफाई भी होगी प्यार भी बढ़ेगा और बीमारियाँ भी ना होगी  

6 टिप्पणियाँ:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (30-10-2017) को
"दिया और बाती" (चर्चा अंक 2773)
पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'


शरद कोकास ने कहा…

आपके घर को देखकर तो लगता है मच्छर क्या कोई चींटी या बैक्टीरिया या वायरस तक प्रवेश नहीं कर सकता .. डेंगू पर इतने विस्तार से जानकारी हिंदी में पहली बार पढ़ी है यह बहुत काम की बाते हैं

कोपल कोकास ने कहा…

यस डैडी मेरे होते हुए कोई बीमारी नहीं आ सकती घर में ।

Paise Ka Gyan ने कहा…

Digial Camera in Hindi
Left Brain Vs Right Brain Fact in Hindi
Galaxy in Hindi
Gravitation in Hindi
SEZ in Hindi
Indian Satellite in Hindi
Forest Fire in Hindi
scientific instruments and their usage in Hindi

Paise Ka Gyan ने कहा…

Rainbow in Hindi
Sea Level in Hindi
Famous Temples of India in Hindi
fingerprint in Hindi
republic day quotes shayari in Hindi

den ने कहा…

Login Sbobet Mobile
Withdraw Slot Joker
Deposit IDN Poker Tanpa Rekening
Agen IDN Poker Online
Daftar Club388
daftar-club388-shopeepay/
Daftar IBCBET
daftar ibcbet linkaja

एक टिप्पणी भेजें