गर्मियों में रहे कूल



गर्मी की शुरुआत हो गई है थोड़े दिनों में गर्मी और ज्यादा बढ़ने लगेगी और फिर शुरू होंगी गर्मी की वजह से बहुत सारी तकलीफें जिनमें सबसे ज्यादा ध्यान हमें हमारे चेहरे व स्किन का रखना होता है क्योंकि ये सबसे पहले सूरज के सामने आती है कई बार ध्यान रखने की वजह से चेहरा झुलस जाता है अगर हमइन टिप्स को फ़ॉलो करें तो काफी हद तक अपने चेहरे को धुप के सम्पर्क से बचा सकते है

१ गर्मी के दिनों में जितना हो सके उतना घर पर ठंडी जगहों पर रहे बाहर जब जरूरी काम हो तभी निकले

2 बाहर जब भी जाए तो घर से पानी पीकर निकले और अपने साथ पानी , छतरी लेकर निकले

3 अपना चेहरा और जो जो हिस्सा धुप के सीधे सम्पर्क में आता है उसे कपड़े या एप्रेन से छिपा ले

4 बाहर से आने पर तुरंत ना पानी पिएँ ना ही हाथ मुँह धोए पहले थोड़ी देर हवा में आराम से बैठ जाएं उसके बाद चाहे तो हाथ मुँह धोए या फिर नहाए

5 धूप में त्वचा झुलसने लगे तो चेहरे पर घर में मौजूद चीजें जैसे खीरे का फेस पैक खीरा बहुत ठंडक देता है खीरे के गूदे को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद चेहरे को ठंडे दूध से धो ले

मैंगो फेस पैक
गर्मी के मौसम में मिलाने वाले इस फल का आप बखूबी उपयोग कर सकते हैं। एक कटोरे में आम का ताज़ा गूदा लें। इसमें एक चम्मच कोल्ड क्रीम और एक चम्मच ठंडा दूध मिलाएं। इस सभी को अच्छे से फेंटकर एक गाढ़ा पेस्ट बनायें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगायें और सूखने दें। फिर इसे धो डालें। मैंगो फेस पैक गर्मियों के मौसम में त्वचा को मॉस्चराइज़ करता है (त्वचा को नमी प्रदान करता है)।

तरबूज से बना फेस पैक
हम सभी को गर्मियों में तरबूज खाना बहुत अच्छा लगता है पर हम इसे चेहरे पर भी लगाकर गर्मी से बच सकते है एक कटोरे में आधा कप तरबूजे का गूदा लें। इसमें एक चम्मच दही मिलाएं। इन दोनों को अच्छे से मिलकर इस फेस पैक को चेहरे पर लगायें। जब यह पैक सूख जाए तो इसे ठन्डे पानी से धो डालें। इस फेस पैक से गर्मियों में आपकी त्वचा मुंहासों से मुक्त रहेगी।

लेमन फेस पैक
नीबू का प्रयोग करके हम टैनिंग दूर कर सकते है और अच्छा निखार ला सकते है गर्मी में अक्सर धूप से त्वचा का झुलस जाती है तो एक कटोरे में दो चम्मच नीबू के रस तथा एक चम्मच शहद मिलाएं। इस फेस पैक को त्वचा पर लगायें तथा टैनिंग को दूर करें।

कॉफी मास्कः दही और कॉफी पाउडर मिलाकर चेहरे व गर्दन पर लगाएं। कैफीन से थकी त्वचा को ठंडक व आराम मिलेगा। इससे त्वचा का सूजन कम होगा और यह तरोताजा महसूस करेगी। इसके साथ दही त्वचा को नमी देगी और इसे मुलायम बनाएगी। काफी पाउडर दानेदार लेप की तरह महसूस होगा। चेहरे पर जब यह सूख जाए तब इसे सर्कुलर मोशन में मसाज करते हुए धो दें। इससे मृत त्वचा भी निकल जाएगी।

दही से बना फेस पैक
जब त्वचा पर दही का उपयोग किया जाता है तो यह त्वचा की रंगत को निखारता है। गर्मियों में सप्ताह में दो बार अपने चेहरे और गर्दन पर ठंडा दही लगायें। दही आपकी त्वचा के रोम छिद्रों को खोलता है तथा तुरंत ही आपकी त्वचा पर चमक आ जाती है।

मसूर दाल और टमाटर फेस पैकः मसूर दाल का पाउडर त्वचा पर बेहतरीन एक्फोलिएटर का काम करता है। टमाटर के गूदे के साथ मिलकर यह त्वचा के नवीनीकरण को बढ़ावा देता है। एक चम्मच मसूर दाल को पानी में भिगोएं और इसे दरबरा पीस लें। इस पेस्ट में टमाटर का गूदा मिलाएं और चेहरे व गर्दन पर इससे मसाज करें। इसे 20 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें फिर ठंडे पानी से धो लें। इससे आपके चेहरे से टैनिंग और दाग-धब्बे साफ हो जाएंगे।

संतरे का जूस और दही का फेस पैकः संतरा विटामिन सी से भरपूर होता है जो कि त्वचा की झाइयां मिटाने में असरदार होता है। इसमें मिलने वाला कोलेजन त्वचा की एजिंग प्रक्रिया को धीमा करता है और आपकी त्वचा में कसाव लाता है। दही प्राकृतिक ब्लीच का काम करता है और त्वचा को नमी देकर मुलायम और सौम्य बनाता है। एक चम्मच दही और एक चम्मच संतरे का जूस मिलाएं और त्वचा पर लगाकर इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर पानी से धो लें।


मिल्क पाउडरशहद और बादाम तेल फेस पैकः मिल्क पाउडर त्वचा को मॉइश्चराइज करनेसन टैन का असर कम करने और त्वचा को साफ व सौम्य बनाने में मदद करता है। दो चम्मच मिल्क पाउडर, 1 चम्मच शहद और बादाम तेल की कुछ बूंदें मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें। अब इसे पानी से धो लें।

मेरा फेवरेट फेसपैक

गर्मियों के दिनों में आप प्राकृतिक मिट्टी मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग कर सकते है एक कटोरी मुल्तानी मिट्टी ले उसमे 4 से 5 बूँद गुलाब जल डाले , एक चम्मच चन्दन , एक चुटकी हल्दी , एक बड़ा चम्मच बेसन पानी नहीं डाले अब इन सभी को आपस में अच्छी तरह मिला ले और चेहरे पर लगा ले लगाने के बाद आप चाहे तो घर के काम करे या बैठकर म्यूजिक सुने पर कुछ बोले नहीं क्योंकि चेहरा बोलने से और खीचने लगेगा 15 बाद जब पैक सूखने लगे तो अच्छे से चेहरा धो ले आप बहुत अच्छा और ताजा महसूस करेंगे 

चन्दन पैक

आप कटोरी चन्दन पाउडर में एक चुटकी बेसन , 4 बूँद गुलाब जल डालकर भी चेहरे पर लगा सकते है चेहरे और बाक़ी त्वचा पर अच्छा निखार आएगा 


§  जब भी रात को सोए तो सोने से पहले हाथ-पांव और मुंह अच्छी तरह धोएंइसके लिए आप कोई फेसवाश भी यूज कर सकते है इससे दिन-भर की गंदगी साफ हो जायेगी । इसके बाद त्वचा पर तेल रहित मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं।


  • कम से कम हफ्ते में एक बार प्राकृतिक फेसपैक का इस्तेमाल जरुर करें जैसे हल्दी का लेपचंदन का लेपएलोवेरा के पेस्ट का लेप आदि गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए इनमे से किसी एक को अपने चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगाकर रखें ।

  • टमाटर और गीली हल्दी का रस धूप से उत्पन्न त्वचा का कालापन दूर करता है।

  • दही को आप अपनी त्वचा पर बाहरी रूप में लगाकर भी उपयोग कर सकते हैं |


  • गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए कच्चे पपीते के रस में नारियल का तेल मिलाकर चेहरे पर मालिश करें।

  • गर्मियों में त्वचा पर घमोरियां निकल आती है पर अक्सर घमौरियां पर लोग पाउडर छिड़कते रहते हैं,इससे घमौरियां और भी बढ़ जाती हैं | अगर घमौरियों पर बर्फ रगड लिया जायेतो काफी राहत मिलती है। अगर फोड़े-पुंसियां निकल आयें तो नीम के तने की छाल को घिसकर लगायें या फौरन किसी डॉक्टर को दिखाना चाहिए। गन्दी त्वचा पर ये ज्यादा निकलते हैं। अगर त्वचा साफ रखी जायेकपड़े और अन्डर गार्मेट्स नियमित रूप से बदले जाएँ तो त्वचा पर घमौरियां कम होगी।

  • गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए त्वचा पर टमाटर के रस के बने आइस क्यूब का मसाज लाभकारी होता है इससे धूप में झुलसी त्वचा को आराम मिलता है और त्वचा की चमक भी बनी रहती है।

  • गर्मियों में ड्राई स्किन की देखभाल के लिए दो केले छीलकर इसको अच्छी तरह पीस ले फिर इस पेस्ट को चेहरे में लगाये |

  • चेहरे और आंखों को धूप से बचाकर रखें। गर्मियों में शरीर के खुले हिस्सों पर सनस्क्रीन लगाना बहुत जरूरी है।

  • टमाटर और गीली हल्दी का रस धूप से उत्पन्न त्वचा का कालापन दूर करता है।


2 टिप्पणियाँ:

Dilbag Virk ने कहा…

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 15.03.2018 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2910 में दिया जाएगा

धन्यवाद

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (16-03-2017) को "मन्दिर का उन्माद" (चर्चा अंक-2911) पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

एक टिप्पणी भेजें